Tag Archives: Prem geet

मेरी पुस्तक का विमोचन

🌸🌺मेरी पुस्तक #मेरी_कविता_मेरे_भाव का #विमोचन Indian High Commission, London द्वारा भारत से बुलाए गए उच्च कोटि के कवि Rajesh Reddy, Sudeep Bhola, Arjun Sisodiya जी, Ashok Charan जी, keerti Mathur जी, Shabnam Ali, Sonroopa Vishal जी के कर कमलों से … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , | 4 Comments

पितृदेव, श्राद्ध

बारह मास में एक पक्ष अब ऐसा आया है पितृदेव को तर्पण का फ़िर अवसर आया है जिनका हमें आशीष मिला बीते पूरे साल वे स्वयं यहाँ पधारे हैं करने को ख़ुशहाल हे अम्मा-बाबा नानी-नाना पुनः तुम्हें सादर नमन जो … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , | 4 Comments

हिंदी दिवस की शुभकामनाएँ

हिंदी मेरी भाषा और हिंदी मेरी हर बात में जैसे चंदा एक अकेला तारों की बारात में हिंदी में मैं स्वप्न देखता, हिंदी में करता विचार हिंदी मेरे मन का दर्पण, हिंदी ही इसका आधार भारत की सारी भाषाएँ, हैं … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , | Leave a comment

🙏🌺🌸🙏 #शिक्षकदिवस की शुभकामनाएँ, सभी शिक्षकों को प्रणाम 🙏

शिक्षक कई रूप में मिलते हैं, शिक्षक कई प्रारूप में मिलते हैं। उनके पढ़ाने से हम शून्य से मूल्य में परिवर्तित होते हैं। वे अपनी अमुल्य शिक्षा हममें गढ़ते हैं…यूँ ही नहीं हम उन्हें पूज्य कहते हैं। मात-पिता प्रारम्भिक शिक्षक … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , | 2 Comments

पुस्तक प्रकाशित – मेरी कविता मेरे भाव

https://www.amazon.in/dp/B07V7BSHL9?ref=myi_title_dp Hardcover– https://www.amazon.in/dp/B07V8G7PT9?ref=myi_title_dp पहली इक्यावन प्रतीयों के पैसे एक NGO ‘उत्साह’ को समर्पित है। कृपया इस लिंक से पढ़ें, पढ़ाएँ और बताएँ अपने अन्य मित्रों को।

Posted in जीवन | Tagged , , , , , | 1 Comment

मित्र

कुछ पल को मित्र क्या दूर हुआ लाचार हुआ, बेकार हुआ नम आँखों से मन को धोया मन में कई बार विकार हुआ कोई हमसे यूँ रूठा था जैसे सपना कोई झूठा था ना रात नींद से बात हुई ना … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , , , | 4 Comments

ईद की बधाई

ख़ुशबू रही हमेशा था रमज़ान का महीना बंदे करे इबादत दिल को बना मदीना चाँद भी चमक कर इफ़्तार कर रहा है त्योहार आ रहा है तैयार हो रहा है ख़ुशी का मौसम ख़ुदा की दुहाई ईद की फ़िज़ा है … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , | 1 Comment

ज़िंदगी से बात कर ले

बैठ जा कुछ ज़िंदगी से बात कर ले बात कर के ज़िंदगी को साथ कर ले रात भर लेटा तो था पर सोया नहीं है कल की भागमभाग में खोया कहीं है अपने जो थे वे आज़ नपने लग रहे … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , | 5 Comments

माँ तुम

माँ तुम अलबेली, गंगा-सी पवित्र हो मन की जगमग ज्योति तुम हो, इत्र हो माँ तुम प्यारी, वो लोरी की थाप हो वेदों के मंत्रों की जैसे कोई जाप हो माँ तुम पहेली, सीपों के अंदर मोती हो मैं रोता … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , | 2 Comments