Tag Archives: tree poem कविता Kavita पर्यावरण

पेड़-पौधे

गमले या फिर ज़मीं कहीं पौधों की है जगह वहींकबतक देर लगाओगे और सोचना सही नहीं

Image | Posted on by | Tagged , | Leave a comment